उध्वस्त भारत

|| कारवाँ गुज़र गया, गुबार देखते रहे ||